Wednesday, May 14, 2014

बुद्ध पोर्णिमा


 आज बुद्ध पोर्णिमा त्या निमित्ताने 

बुद्ध संदेश !

कोणताही विचार अंमलात आणण्या  पूर्वी विचार करावा असा विचार !

मत करो विश्वास उसपर जो परंपरा से पास आया हैं!

मत करो विश्वास केवल इसलिए की गुरु ने बताया हैं!

स्वयंम ही परिख्षण करो निरिक्षण करो!

फिर पाओ जो विचार कल्याण का सब प्राणियोंका

तो जुड़कर रहो उससे!

वही होगा पथप्रदर्शक!

क्यूंकि वोह विचार होगा स्वनिर्मित..!

इसलिए होगा सुनिश्चित!

--गौतम बुद्ध!



दिव्य दृष्टी 

Thinking Beyond Routine





No comments: